मत्ती 26
BAG

मत्ती 26

26
यीसु के बिरोध माहीं सड़यन्त्र रचब
(मरकुस 14:1,2; लूका 22:1,2; यूहन्ना 11:45-53)
1जब यीसु ईं सगली बातन काहीं बताय चुकें, त पुनि अपने चेलन से कहिन, कि 2“तूँ पंचे इआ जनते हया, कि दुइ दिना के बाद फसह नाम के तेउहार आमँइ बाला हय, अउर मनई के लड़िका क्रूस माहीं चढ़ामँइ के खातिर पकड़ाबा जई।”
3तब प्रधान याजक लोग अउर यहूदी धारमिक अँगुआ लोग काइफा नाम के महायाजक के अँगना माहीं एकट्ठा भें, 4अउर आपस माहीं इआ बात-चीत करँइ लागें, कि हम पंचे यीसु काहीं धोखे से पकड़िके मारि डारी। 5पय ऊँ पंचे इआ कहत रहे हँय, कि “तेउहार के समय माहीं नहीं, कहँव अइसा न होय, कि लोगन माहीं दंगा होइ जाय।”
बैतनिय्याह गाँव माहीं यीसु के ऊपर अँतर डारब
(मरकुस 14:3-9; यूहन्ना 12:1-8)
6जब यीसु बैतनिय्याह गाँव माहीं समौन कोढ़ी के घर माहीं रहे हँय, 7तबहिनय एकठे मेहेरिआ संगमरमर के बरतन माहीं खुब महग अँतर लइके यीसु के लघे आई, अउर जब यीसु खाना खाँइ बइठ रहे हँय, तबहिनय उनखे मूँड़े माहीं अँतर उड़ेल दिहिस। 8इआ देखिके, यीसु के चेला लोग उआ मेहेरिआ काहीं रिसिहाँइ लागें, अउर कहिन, कि “इआ अँतर काहीं काहे सत्यानास कइ दिहा? 9एही त खुब पइसन माहीं बेंचिके कंगालन काहीं बाँटा जाय सकत रहा हय।” 10इआ बात काहीं जानिके यीसु अपने चेलन से कहिन, कि “उआ मेहेरिआ काहीं काहे परेसान करते हया? उआ त हमरे साथ भलाइन किहिस ही। 11काहेकि गरीब त तोंहरे साथ हमेसा रइहँय, पय हम तोंहरे साथ हमेसा न रहब। 12उआ हमरे देंह माहीं जउन इआ अँतर उड़ेलिस ही, त हमरे गाड़े जाँइ के खातिर इआ काम किहिस ही। 13हम तोंहसे पंचन से सही कहित हएन, कि सगले संसार माहीं जहाँ कहँव इआ खुसी के खबर के प्रचार कीन जई, त ओखे इआ काम के बखान घलाय ओखे यादगारी माहीं कीन जई।”
यहूदा इस्करियोती के बिसुआस घात करब
(मरकुस 14:10,11; लूका 22:3-6)
14तब यहूदा इस्करियोती, जउन बरहँव चेलन म से रहा हय, उआ प्रधान याजकन के लघे जाइके कहिस, कि 15“अगर हम यीसु काहीं अपना पंचन के हाँथे माहीं पकड़बाय देई, त अपना पंचे हमहीं का देब?” अउर ऊँ पंचे तीसठे चाँदी के सिक्का तउलिके ओही दइ दिहिन। 16अउर यहूदा इस्करियोती उहय समय से यीसु काहीं पकड़ामँइ के मोका ढूँढ़ँइ लाग।
अपने चेलन के साथ फसह के तेउहार माहीं यीसु के आखिरी बेरकी खाना खाब
(मरकुस 14:12-21; लूका 22:7-13,21-23; यूहन्ना 13:21-30)
17बिना खमीर के रोटी खाँइ बाले तेउहार के पहिलय दिन, चेला लोग यीसु के लघे आइके पूँछँइ लागें, कि “अपना कहाँ चाहित हएन, कि हम पंचे अपना के खातिर फसह के खाना के तइआरी करी?” 18तब यीसु कहिन, कि “सहर माहीं एकठे मनई के लघे जाइके कह्या, कि ‘गुरू कहिन हीं कि हमार समय लघे हय। अउर हम अपने चेलन के साथ तोंहरे इहाँ तेउहार मनाउब’।” 19एसे चेला लोग यीसु के हुकुम काहीं मानिके, फसह के खाना तइआर किहिन।
20जब साँझ भय, तब यीसु बरहँव चेलन के साथ खाना खाँय के खातिर बइठें। 21अउर जब ऊँ पंचे खाना खात रहे हँय, तब यीसु उनसे कहिन, कि “हम तोंहसे सही कहित हएन, कि तोंहरे पंचन म से एक जने हमहीं बिरोधी लोगन के हाँथ माहीं पकड़बाई।” 22इआ बात काहीं सुनिके चेला लोग खुब उदास होइगें, अउर हरेक जन उनसे पूँछँइ लागें, कि “हे प्रभू, अपना बताई, कि का उआ हम आहेन?” 23तब यीसु जबाब दिहिन, कि “जे हमरे साथ एकय टठिया माहीं खात हय, उहय हमहीं पकड़बाई। 24मनई के लड़िका त जाबय करी, जइसन कि पबित्र सास्त्र माहीं ओखे बारे माहीं लिखा हय; पय जउन मनई धोखा दइके मनई के लड़िका काहीं पकड़बामँइ बाला हय, ओही परमातिमा से खुब सजा मिली: अउर अगर उआ मनई के जन्मय न होत, त ओखे खातिर इआ नीक होत।” 25तब यीसु काहीं पकड़ बामँइ बाला यहूदा इस्करियोती कहिस, कि “हे गुरू, का उआ हम आहेन?” तब यीसु ओसे कहिन, कि “हाँ, तूँ खुदय कहते हया।”
प्रभू-भोज
(मरकुस 14:22-26; लूका 22:14-20; 1 कुरिन्थियन 11:23-25)
26जब यीसु अउर उनखर चेला लोग खाना खात रहे हँय, तब यीसु रोटी लिहिन, अउर पिता परमातिमा से आसीस मागिके टोरिन, अउर चेलन काहीं दइके कहिन, कि “ल्या, तूँ पंचे एही खा; इआ हमार देंह आय।” 27अउर एखे बाद ऊँ अंगूर के रस से भरा खोरबा लइके, परमातिमा काहीं धन्यबाद दिहिन, अउर उनहीं खोरबा दइके कहिन, कि “तूँ पंचे सगले जन एमा से पिआ, 28काहेकि इआ करार के हमार उआ खून आय, जउन खुब मनइन के पापन के माफी के खातिर बहाबा जई। 29अउर हम तोंहसे पंचन से कहित हएन, कि अंगूर के इआ रस उआ दिना तक हम कबहूँ न पिअब, जब तक अपने पिता परमातिमा के राज माहीं तोंहरे साथ नबा अंगूर के रस न पी लेब।” 30अउर पुनि ऊँ पंचे भजन गाइके जैतून पहार माहीं चलेगें।
पतरस के इनकार के बारे माहीं यीसु के भबिस्सबानी
(मरकुस 14:27-31; लूका 22:31-34; यूहन्ना 13:36-38)
31तब यीसु उनसे कहिन, कि “तूँ पंचे सगले जने आजय रात माहीं, हमरे ऊपर किहे बिसुआस से भटक जइहा, काहेकि पबित्र सास्त्र माहीं लिखा हय: कि ‘हम गड़रिया काहीं मार डारब, अउर झुन्ड के सगली गड़रँय तितर-बितर होइ जइहँय#जक 13:7।’ 32पय हम मरेन म से जिन्दा होए के बाद, तोंहसे मिलँइ से पहिले गलील प्रदेस माहीं जाब।” 33तब इआ बात काहीं सुनिके पतरस यीसु से कहिन, कि “अगर सगले जने अपना के ऊपर किहे बिसुआस से भटक जाँय त भटक जाँय, पय हम कबहूँ न भटकब।” 34तब यीसु पतरस से कहिन, कि “हम तोंहसे सही कहित हएन, कि आजय रात माहीं मुरगा के बोलँइ से पहिले तूँ तीन बेरकी इनकार करिहा, कि हम यीसु काहीं नहीं जानी।” 35तब पतरस यीसु से कहिन, कि “अगर हमहीं अपना के साथ मरऊँ क परय, तऊ हम अपना काहीं कबहूँ न इनकार करब।” अउर इहइमेर सगले चेला घलाय कहिन।
गतसमनी नाम के जघा माहीं यीसु के प्राथना करब
(मरकुस 14:32-42; लूका 22:39-46)
36तब यीसु अपने चेलन के साथ गतसमनी नाम के जघा माहीं आएँ, अउर अपने चेलन से कहँइ लागें, कि “जब तक हम उहाँ जाइके प्राथना करब, तब तक तूँ पंचे इहँय बइठ रह्या।” 37अउर यीसु, पतरस अउर जब्दी के दोनव लड़िकन काहीं अपने साथ माहीं लइगें, अउर यीसु उदास अउर ब्याकुल होंइ लागें। 38तब यीसु उनसे कहिन, कि “हमार जिव खुब उदास हय, अउर लागत हय, कि हमार प्रान निकर जई। तूँ पंचे इहँय रुके रहा, अउर हमरे साथ जागत रहा।” 39अउर पुनि यीसु थोरी क अउर आँगे जाइके अउर भुँइ माहीं मुँह झुकाइके, इआ प्राथना किहिन, कि “हे हमार पिता, अगर होइ सकय त इआ बड़ा भारी कस्ट हमसे दूर होइ जाय, तऊ जइसन हम चाहित हएन, उआमेर न होय, पय जइसन अपना चाहित हएन, उहयमेर होय।” 40अउर एखे बाद यीसु चेलन के लघे आएँ, त उनहीं सोबत पाइन, तब ऊँ पतरस से कहिन, “का तूँ पंचे हमरे साथ एक घरिव, नहीं जाग सकते आह्या? 41तूँ पंचे सतरक रहा, अउर प्राथना करत रहा, कि जउने परिच्छन माहीं न परा: आत्मा त वास्तव माहीं तइआर हय, पय देंह निबल ही।” 42अउर यीसु पुनि दुसराय जाइके इआ प्राथना किहिन, कि “हे हमार पिता, अगर इआ बड़ा भारी दुख के प्याला हमरे सहे बिना नहीं हटि सकय, त अपना के इच्छा पूर होय।” 43अउर यीसु जाइके देखिन त चेलन काहीं पुनि सोबत पाइन, काहेकि ऊँ पंचे गहरी नींद म रहे हँय। 44अउर चेलन काहीं छोंड़िके यीसु पुनि चलेगें, अउर उहय बात पुनि कहिके तिसरइआ प्राथना किहिन। 45तब यीसु अपने चेलन के लघे आइके, उनसे कहिन, कि “तूँ पंचे अब सोबत रहा, अउर अराम करा, काहेकि मनई के लड़िका के पकड़बाए जाँइ के समय लघे आइगा हय, अउर मनई के लड़िका, पापी मनइन के हाँथ माहीं पकड़ाबा जई। 46उठा, चली! देखा, हमार पकड़ामँइ बाला लघे आइगा हय।”
यीसु काहीं धोखे से पकड़ा जाब
(मरकुस 14:43-50; लूका 22:47-53; यूहन्ना 18:3-12)
47जब यीसु इआ बात कहतय रहे हँय, तबहिनय यहूदा इस्करियोती आबा, जउन बरहँव चेलन म से रहा हय, अउर ओखे साथ माहीं तलबार अउर लाठी लए प्रधान याजकन अउर यहूदी समाज के अँगुअन के तरफ से पठई खुब बड़ी भीड़ घलाय रही हय। 48अउर यीसु काहीं पकड़बामँइ बाला यहूदा इस्करियोती, उनहीं पंचन काहीं एकठे चिन्हारी बताइस तय, कि: जिनखर हम चूमा लेब, उँइन यीसु आहीं, अउर तूँ पंचे उनहीं पकड़ लिहा। 49अउर उआ हरबिन यीसु के लघे आइके कहिस, “हे गुरू, नबस्कार!” अउर उनहीं खुब चूमिस। 50तब यीसु ओसे कहिन, कि “हे साथी, जउने काम के खातिर तूँ आया हय, ओही कइल्या।” तब ऊँ पंचे यीसु के लघे जाइके उनहीं पकड़ लिहिन। 51तब यीसु के साथिन म से एक जने, हाँथ बढ़ाइके आपन तलबार निकार लिहिन, अउर महायाजक के दास के ऊपर चलाइके ओखर कान काट लिहिन। 52तब यीसु उनसे कहिन, कि “आपन तलबार म्यान माहीं रख ल्या, काहेकि जे कोऊ तलबार चलाबत हें, ऊँ सगले जन तलबार से मारे जइहँय। 53अउर का तूँ इआ नहीं जनते आह्या, कि हम अपने पिता से बिनती कइ सकित हएन, अउर ऊँ स्वरगदूतन के बारा पलटन से जादा सिपाहिन काहीं हमरे लघे अबहिनय पठय देइहँय? 54पय पबित्र सास्त्र माहीं लिखी ऊँ बातँय, कि अइसनय होब जरूरी हय, कइसन पूर होइहँय?” 55अउर उहय समय यीसु भीड़ के मनइन से कहिन, कि “का तूँ पंचे तलबारन अउर लाठिन काहीं लइके, डाँकू कि नाईं हमहीं पकड़ँइ आया हय? हम त रोजय मन्दिर माहीं बइठिके उपदेस देत रहे हएन, तब तूँ पंचे हमहीं गिरफतार नहीं किहा। 56पय इआ सब एसे भ हय, कि जउने परमातिमा के सँदेस बतामँइ बालेन के बचन पूर होंय।” तब चेला लोग यीसु काहीं छोंड़िके भागिगें।
महासभा माहीं यीसु काहीं लइ जाब
(मरकुस 14:53-65; लूका 22:54-55,63-71; यूहन्ना 18:13-14,19-24)
57जउन मनई यीसु काहीं पकड़िन रहा हय, ऊँ पंचे उनहीं काइफा नाम के महायाजक के लघे लइगें, अउर उहाँ मूसा के बिधान सिखामँइ बाले, अउर यहूदी धारमिक अँगुआ लोग घलाय एकट्ठा रहे हँय। 58अउर पतरस दूरिन-दूरी यीसु के पीछे-पीछे महायाजक के अँगने तक गें, अउर इआ देखँइ के खातिर, कि यीसु के साथ का होई, भीतर जाइके पहरेदारन के साथ माहीं बइठिगें। 59अउर प्रधान याजक अउर महासभा के सगले मनई यीसु काहीं मारि डारँइ के उद्देस्य से, उनखे खिलाफ लबरी गबाही देंइ बालेन काहीं ढूँढ़त रहे हँय, 60तब लबरी गबाही देंइ के खातिर खुब जने आएँ, पय कउनव दोस ढूँढ़े नहीं पाइन। अउर आखिरी माहीं दुइ जने अउर आएँ, 61अउर कहिन, कि “ईं कहिन हीं, कि हम परमातिमा के मन्दिर काहीं गिराय सकित हएन, अउर ओही तीन दिन माहीं पुनि बनाय सकित हएन।”
62तब महायाजक ठाढ़ होइके यीसु से कहिन, कि “का इनखे जबाब माहीं तोहईं कुछू नहीं कहँइ क आय? ईं पंचे तोंहरे बिरोध माहीं का गबाही देत हें?” 63पय यीसु कुछू जबाब नहीं दिहिन। तब महायाजक उनसे कहिन, कि “हम तोहईं जिन्दा परमातिमा के कसम खबाइत हएन, कि अगर तूँ परमातिमा के लड़िका मसीह आह्या, त हमहीं बताय द्या।” 64तब यीसु उनसे कहिन, कि “तूँ त खुदय कहते हया, पय हम तोहईं बताइत हएन, कि अब से तूँ मनई के लड़िका काहीं सर्बसक्तिमान परमातिमा के दहिने कइती बइठे, अउर अकास के बदरिन के ऊपर आबत देखिहा।” 65इआ बात काहीं सुनिके महायाजक आपन ओन्हा फारिन अउर कहिन, कि “ईं परमातिमा के बुराई किहिन हीं, अउर हमहीं पंचन काहीं अब अउर गबाहन के जरूरत नहिं आय, अउर देखा, तूँ पंचे अबहिनय इआ परमातिमा के बुराई काहीं सुने हया! 66त इनखे बारे माहीं तोंहार पंचन के का बिचार हय?” तब ऊँ पंचे जबाब दिहिन, कि “ईं अपराधी हें, अउर मारि डारँइ के काबिल हें।” 67तब ऊँ पंचे यीसु के मुहें माहीं थूँकिन, अउर उनहीं घूँसा मारिन, अउर दूसर जने उनखे गाल माहीं थापड़ मारिके कहिन, कि 68“हे मसीह, भबिस्यबानी कइके हमसे बताबा, कि तोहईं को मारिस ही?”
पतरस के व्दारा यीसु के इनकार
(मरकुस 14:66-72; लूका 22:56-62; यूहन्ना 18:15-18,25-27)
69जब पतरस अँगना माहीं बहिरे बइठ रहे हँय, तबहिनय एकठे दासी उनखे लघे आइके कहिस, कि “तुहूँ घलाय गलील प्रदेस माहीं रहँइ बाले यीसु के साथ माहीं रहे हया।” 70पय पतरस सबके आँगे इआ कहिके इनकार कइ दिहिन, कि “हम नहीं जानी कि तूँ का कहते हया।” 71अउर जब पतरस बहिरे दुअरा माहीं गें, त दूसर दासी उनहीं देखिके, जउन मनई उहाँ रहे हँय उनसे कहिस, कि “इऊँ घलाय त यीसु नासरी के साथ माहीं रहे हें।” 72तब पतरस कसम खाइके पुनि इनकार कइ दिहिन, कि “हम उआ मनई काहीं नहीं जानी।” 73अउर थोरी देर बाद ऊँ मनई, जउन उहाँ ठाढ़ रहे हँय, पतरस के लघे आइके उनसे कहिन, कि “तोंहार बोली इआ साफ बताय रही हय, कि सचमुच तुहूँ घलाय उनमा से एक जन आह्या।” 74तब पतरस खुद काहीं धिक्कारँय लागें अउर कसम खाँइ लागें, कि “हम उआ मनई काहीं बेलकुल नहीं जानी।” अउर हरबिन मुरगा बोलिस। 75तब पतरस काहीं यीसु के कही बात याद आइगे: कि “मुरगा के बोलँइ से पहिले, तूँ तीन बेरकी हमहीं इनकार करिहा।” अउर पतरस बहिरे जाइके फूट-फूटिके रोमँइ लागें।

© Wycliffe Bible Translators, Inc. All rights reserved.


Learn More About Bagheli Bible

Encouraging and challenging you to seek intimacy with God every day.


YouVersion uses cookies to personalize your experience. By using our website, you accept our use of cookies as described in our Privacy Policy.