भजन संहिता 147:18