मत्ती 2
BGCNT

मत्ती 2

2
ज्योतिषियाँ का आणा
1हेरोदेस राजा जिब यहूदिया परदेस पै राज करण लागरया था, तो उस परदेस के बैतलहम नगर म्ह यीशु का जन्म होया। तो थोड़े बखत बाद कई विद्वान जो तारां का ज्ञान राक्खै थे, पूरब तै यरुशलेम नगर म्ह आये। 2वो आकै बुझ्झण लाग्गे, यहूदियाँ का राजा जिसका जन्म होया सै, वो कित्त सै? हमनै पूरब दिशा म्ह उसका तारा देख्या सै, जो उसके जन्म के बारें म्ह बतावै सै, इस करकै हम उसकी आराधना करण आये सां।
3यो सुणकै हेरोदेस राजा अर उसकै गैल यरुशलेम नगर के सारे लोग चिन्ता करण लाग्गै। 4फेर उसनै माणसां के सारे प्रधान याजकां अर शास्त्रियाँ ताहीं कठ्ठा करकै उनतै बुझ्झया, के पवित्र ग्रन्थ के कहवै सै? “मसीह का जन्म कित्त होणा चाहिये?” 5उननै उस ताहीं कह्या, “यहूदिया परदेस के बैतलहम नगर म्ह,” क्यूँके नबियाँ कै जरिये योए पवित्र ग्रन्थ म्ह लिख्या गया सै:
6“हे बैतलहम नगर, तू जो यहूदा कै परदेस म्ह सै, तू किसे भी ढाळ तै यहूदा कै अधिकारियां म्ह सारा तै छोट्टा कोन्या। क्यूँके तेरे म्ह तै एक राजा लिकड़ैगा, जो मेरी प्रजा इस्राएल की रुखाळी करैगा।”
7हेरोदेस जाणणा चाहवै था के उस बाळक की उम्र कितनी सै, इस करकै उसनै तारां का ज्ञान राक्खण आळा ताहीं लुह्क्मा बुलाकै उनतै बुझ्झया के तारा ठीक किस बखत दिख्या था। 8अर राजा नै यो कहकै उन ताहीं बैतलहम नगर भेज्जा, “जाओ, उस बाळक कै बारें म्ह ठीक-ठाक बेरा पाड़ो, अर जिब वो मिल ज्या तो मन्नै खबर द्यो, ताके मै भी आणकै उसकी आराधना करुँ।”
9वे राजा की बात सुणकै चले गए, अर जो तारा उननै पूरब दिशा म्ह देख्या था, वो उनकै आग्गै-आग्गै चाल्या। अर जड़ै बाळक था, उस घर कै उप्पर जाकै रुक ग्या। 10उस तारे नै देखकै वे घणे आनन्दित होए, जो उस घर के उप्पर रुक ग्या था। 11उननै उस घर म्ह जाकै उस बाळक ताहीं उसकी माँ मरियम कै गैल देख्या, अर झुककै बाळक की आराधना करी, अर अपणा-अपणा झोळा खोल कै उस ताहीं सोन्ना, लोबान, अर गन्धरस की भेट चढ़ाई। 12फेर सपनै म्ह परमेसवर नै या चेतावनी दी के हेरोदेस राजा कै धोरै फेर ना जाइयो, वे राजा ताहीं बिना बताये दुसरे राह तै अपणे देश म्ह चले ग्ये।
मिस्र देश म्ह जाणा
13विद्वानां कै चले जाणकै बाद परमेसवर कै एक सुर्गदूत नै सपनै म्ह आकै यूसुफ तै कह्या, “उठ! उस बाळक नै अर उसकी माँ नै लेकै मिस्र देश म्ह भाग ज्या। अर जिब ताहीं मै तेरे तै ना कहूँ, जिब ताहीं ओड़ैए रहिये। क्यूँके हेरोदेस राजा इस बाळक नै टोह्कै उस ताहीं उसनै मरवाणा चाहवै सै।”
14फेर वो रात नै ए उठकै बाळक अर उसकी माँ नै लेकै मिस्र देश नै चाल पड्या। 15अर हेरोदेस राजा कै मरण तक ओड़ैए रह्या। ताके वो वचन जो प्रभु नै होशे नबी कै जरिये कह्या था वो पूरा हो “मन्नै अपणे बेट्टै ताहीं मिस्र देश तै बुलाया।”
हेरोदेस के जरिये छोट्टे बाळकां ताहीं मरवाणा
16जिब हेरोदेस राजा नै यो देख्या, के विद्वानां नै उसकै गैल धोक्खा करया सै, फेर वो छो म्ह भरग्या। उसनै सैनिकां ताहीं भेजकै विद्वानां कै जरिये ठीक-ठाक बताये होड़ बखत कै मुताबिक बैतलहम नगर अर उसकै लोवै-धोवै की जगहांया के सारे छोरयां ताहीं जो दो साल के या उसतै छोट्टे थे, वे सब मरवा दिए। 17फेर जो वचन यिर्मयाह नबी कै जरिये कह्या ग्या था, वो पूरा होया,
18“रामाह नगर म्ह एक रोण की आवाज सुणाई देई, रोणा अर घणाए बिलाप।
राहेल अपणे बाळकां कै खात्तर रोवै थी, अर चुप न्ही होणा चाहवै थी,
क्यूँके वे इब मरगे थे।”
मिस्र देश तै आणा
19हेरोदेस राजा कै मरण कै पाच्छै, परमेसवर का सुर्गदूत मिस्र देश म्ह यूसुफ तै सपनै म्ह बोल्या, 20“उठ, बाळक अर उसकी माँ नै लेकै इस्राएल कै देश म्ह चल्या ज्या, क्यूँके हेरोदेस राजा अर उसके माणस जो बाळक नै मारणा चाहवै थे, वे मर लिये सै।”
21यूसुफ नींद तै जाज्ञा, अर बाळक अर उसकी माँ नै गेल्या लेकै इस्राएल देश म्ह बोहड़ आया। 22पर या सुणकै के अरखिलाउस अपणे पिता हेरोदेस राजा की जगहां यहूदिया परदेस पै राज करै सै, ओड़ै जाण तै डरग्या। फेर सपनै म्ह परमेसवर की ओड़ तै चेतावनी पाकै गलील परदेस म्ह चल्या गया। 23अर नासरत नाम कै नगर म्ह जा बस्या, ताके वो वचन पूरा हो, जो नबियाँ कै जरिये यीशु के बारें कह्या गया था: “वो नासरी#2:23 नासरत नगर का रहण आळा कुह्वावैगा।”

This work is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 4.0 License.

Learn More About हरियाणवी